T20 world cup Team

जिम्बाब्वे को 71 रन से हराने के बाद कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि एक मैच के प्रदर्शन के आधार पर किसी खिलाड़ी का आकलन ठीक नहीं होगा। हम उन्हें खिलाते हैं कि नहीं, ये एक मैच के आधार पर तय नहीं होता।

T20 विश्व कप 2022 में सुपर 12 के मुकाबले खत्म हो चुके हैं और अब सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चार टीमों के नाम सामने आ गए हैं। एक ग्रुप से भारत और पाकिस्तान ने क्वालीफाई किया है, वहीं दूसरे ग्रुप से इंग्लैंड और न्यूजीलैंड ने अंतिम 12 में पहुंचने में कामयाबी हासिल कर ली है। अब पहले सेमीफाइनल में पाकिस्तान और न्यूजीलैंड का मुकाबला होगा,वहीं दूसरे सेमीफाइनल में भारतीय टीम का मुकाबला इंग्लैंड से होगा। इस बीच अब सवाल उठने शुरू हो गए हैं कि टीम इंडिया जब सेमीफाइनल में 10 नवंबर को इंग्लैंड से भिड़ेगी तो उसकी प्लेइंग इलेवन क्या होगी। कहा जा रहा है कि टीम इंडिया अपने विनिंग कॉबिनेशन के साथ शायद ही छेड़छाड़ करे। इस बीच सबसे बड़ा सवाल यही है कि सेमीफाइनल में ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक में से किसे मौका दिया जाएगा।
कोच राहुल द्रविड़ ने ऋषभ पंत को कही ये बात:
टीम इंडिया ने सुपर 12 में अपने जो पांच मैच खेले हैं, उसमें से शुरुआती चार मैचों में दिनेश कार्तिक खेले, लेकिन आखिरी मैच में ऋषभ पंत को मौका दिया गया और दिनेश कार्तिक को बाहर बैठना पड़ा। हालांकि जो एक मौका ऋषभ पंत को दिया गया, उसमें वे बहुत कामयाब नहीं रहे। जिम्बाब्वे के खिलाफ खेले गए मैच में उन्होंने पांच गेंद पर केवल तीन रन बनाए और आउट हो गए।
इसके बाद कहा जाने लगा था कि हो सकता है कि दिनेश कार्तिक ही इंग्लैंड के खिलाफ फिर से वापसी करें। लेकिन टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने सेमीफाइनल की प्लेइंग इलेवन को लेकर कुछ संकेत जरूर दे दिए हैं। जिम्बाब्वे को 71 रन से हराने के बाद कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि एक मैच के प्रदर्शन के आधार पर किसी खिलाड़ी का आकलन ठीक नहीं होगा। हम उन्हें खिलाते हैं कि नहीं, ये एक मैच के आधार पर तय नहीं होता। राहुल द्रविड ने संकेत दिए हैं कि ऋषभ पंत को उतारने का फैसला कुछ खास कारणों से ही नहीं लिया जाएगा, क्योंकि वह संभवत इसे सेमीफाइनल में लेकर स्पिनर आदिल राशिद के मैच अप के रूप में देख रहे हैं। 
द्रविड़ ने कहा कि कई बार मैच अप को ध्यान में रखकर ऐसा किया जाता है। हमें यह देखने की जरूरत होती है किसी खास गेंदबाज के खिलाफ हमें किस तरह के कौशल की जरूरत पड़ेगी। इसलिए इस तरह के फैसलों में कई तरह की चीजें जुड़ी होती हैं। द्रविड़ ने कहा कि ऐसा नहीं है कि हमने कभी पंत पर से भरोसा खोया। हमें टीम में शामिल सभी 15 खिलाड़ियों पर पूरा भरोसा है, लेकिन केवल 11 खिलाड़ी खेल सकते हैं और यह संयोजन पर निर्भर करता है।
राहुल द्रविड़ बोले, हमें अपनी पूरी टीम पर पूरा भरोसा:
Head कोच राहुल द्रविड़ ने भी कहा कि अगर वह यहां है और विश्वकप टीम का हिस्सा है तो इसका मतलब है कि हमें उन पर बहुत भरोसा है। इसका मतलब है कि उन्हें किसी भी समय अंतिम एकादश में शामिल किया जा सकता है। मुख्य कोच ने कहा कि आप केवल एक मैच में 11 खिलाड़ियों के साथ ही खेल सकते हैं। ऐसे में कुछ खिलाड़ियों को बाहर रहना पड़ता है।
ऋषभ भी इनमें से एक है। उसने नेट्स पर काफी बल्लेबाजी की है तथा उसने विकेटकीपिंग का भी जमकर अभ्यास किया है ताकि वह तैयार रहे। राहुल द्रविड द्रविड़ बाएं हाथ के स्पिनर सीन विलियम्स के खिलाफ पंत के रवैए से खुश हैं भले ही वह अपने शॉट को सही तरह से नहीं खेल पाए थे। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर आज उसका रवैया काम नहीं आया, लेकिन मैं इससे परेशान नहीं हूं क्योंकि मुझे लगता है कि उसने सही फैसला किया था। उसकी भूमिका बाएं हाथ के स्पिनर पर हावी होकर खेलना था और उसने ऐसा किया। कभी आप इसमें सफल होते हैं तो कभी नाकाम। द्रविड़ ने इसके साथ ही था कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर जानबूझकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया क्योंकि एडिलेड में होने वाले सेमीफाइनल से पहले वह स्कोर का बचाव करने के बारे में सोच रहे थे। 
उन्होंने कहा कि कुछ चीजें जो हम करना चाहते थे उनमें मौका मिलने पर पहले बल्लेबाजी करना भी शामिल था। निश्चित तौर पर इसके लिए हमारा टॉस जीतना जरूरी था। हमने यहां पाकिस्तान के खिलाफ पहले गेंदबाजी की थी लेकिन अब हम यह देखना चाहते थे कि इस तरह की परिस्थितियों में हम स्कोर का बचाव कैसे करते हैं। इसके साथ ही द्रविड़ यह भी चाहते थे कि उनके बल्लेबाज पूरे 20 ओवर तक बल्लेबाजी करें। उन्होंने कहा कि इसके अलावा हमें यह भी लगा कि अगर हम पहले बल्लेबाजी करते हैं तो हमें सभी 20 ओवर खेलने का मौका मिलेगा।ष्द्रविड़ से जब एडिलेड ओवल में युजवेंद्र चहल को मौका दिए जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जैसा मैंने पहले कहा कि सभी 15 खिलाड़ियों को लेकर हमारी राय स्पष्ट है। हमारा मानना है कि जो 15 खिलाड़ियों में शामिल है उसके रहने से हम किसी तरह से कमजोर नहीं होते हैं।
भारतीय कोच ने कहा कि एडिलेड की पिच को देखने के बाद ही अंतिम एकादश के बारे में फैसला किया जाएगा क्योंकि इस मैदान पर बांग्लादेश और पाकिस्तान के बीच खेले गए मैच में स्पिनरों ने अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि हम वहां जाकर परिस्थितियों को देखने के बाद फैसला करेंगे। हमने वहां रविवार को पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच मैच में देखा कि पिच थोड़ा धीमा खेल रही है तथा गेंद टर्न भी ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *