CMAT 2022: क्या है? जानें एग्जाम पैटर्न और आवेदन करने का तरीका!

सीमैट परीक्षा (CMAT Exam) के जरिए AICTE से संबद्ध कॉलेजों में मैनेजमेंट कोर्स (Management Course) की पढ़ाई के लिए उम्मीदवारों का चयन किया जाता है. अगर आप भी सीमैट 2022 परीक्षा (CMAT 2022 Exam) में शामिल होने वाले हैं तो जानिए फॉर्म भरने की लास्ट डेट, सीमैट एग्जाम पैटर्न (CMAT Exam Pattern) व अन्य जरूरी बातें


CMAT परीक्षा 9 अप्रैल 2022 को ऑनलाइन मोड में होगी तथा  को ऑनलाइन मोड में होगी
CMAT , cmat.nta.nic.in: सीमैट परीक्षा (CMAT Exam) एनटीए द्वारा आयोजित की जाती है एनटीए (NTA) के ऊपर हर साल कई तरह की परीक्षाओं का जिम्मा होता है सीमैट भी एक एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exams) है. इसके जरिए AICTE से संबद्ध कॉलेजों में मैनेजमेंट कोर्स (Management Course) के लिए उम्मीदवारों का चयन किया जाता है. सीमैट परीक्षा का फुल फॉर्म कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (Common Management Admission Test) है. इच्छुक उम्मीदवारों को सीमैट 2022 परीक्षा के लिए 18 मार्च 2022 तक cmat.nta.nic.in पर अप्लाई करना होगा सीमैट 2022 परीक्षा 9 अप्रैल 2022 को होगी (CMAT 2022 Date)जानें सीमैट एग्जाम पैटर्न (CMAT Exam Pattern) व अन्य जरूरी बातें.

देश के विभिन्न कॉलेजों में अलग-अलग कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exams) आयाजित करवाए जाते हैं इनमें से ज्यादातर एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exams) का जिम्मा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी एनटीए (NTA) के ऊपर होता है. सीमैट परीक्षा (CMAT Exam) भी उनमें से एक है. सीमैट 2022 परीक्षा 9 अप्रैल को होगी (CMAT 2022 Date)सीमैट परीक्षा का फुल फॉर्म कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (Common Management Admission Test) है


सीमैट परीक्षा (CMAT Exam) के जरिए AICTE से संबद्ध कॉलेजों में मैनेजमेंट कोर्स (Management Course) की पढ़ाई के लिए उम्मीदवारों का चयन किया जाता है. अगर आप भी सीमैट 2022 परीक्षा (CMAT 2022 Exam) में शामिल होने वाले हैं तो जानिए फॉर्म भरने की लास्ट डेट, सीमैट एग्जाम पैटर्न (CMAT Exam Pattern) व अन्य जरूरी बातें


सेक्शन में बंटा है CMAT सिलेबस


सीमैट एग्जाम (CMAT Exam) काफी कठिन होता है और इसे पहले अटेंप्ट में पास कर पाना आसान नहीं होता है सीमैट कंप्यूटर आधारित परीक्षा है यानी इसे ऑनलाइन मोड में देना होता है सीमैट एग्जाम के लिए कोई खास सिलेबस निर्धारित नहीं किया गया है (CMAT Exam Syllabus). इसकी तैयारी करते समय इन चार सेक्शन पर फोकस करें- लैंग्वेज कॉम्प्रिहेंशन, क्वॉन्टिटेटिव टेक्नीक एंड डेटा इंटरप्रिटेशन, लॉजिकल रीजनिंग और जनरल अवेयरनेस

Admission will be done by CUET score in these 8 deemed universities of the country, see list
देश की इन 8 डीम्ड यूनिवर्सिटी में CUET स्कोर से मिलेगा एडमिशन, देखें लिस्ट


CUET 2022 के लिए नहीं है कोचिंग की जरूरत, 12 वीं के सिलेबस से आएंगे सवाल !
यदि  आप केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं? जानें कोर्स और कॉलेज

CUET 2022 ने बढ़ाई सबकी चिंता, इस वजह से अधूरी रह सकती है पढ़ाई

100 questions will be asked in CMAT exam
CMAT परीक्षा में पूछे जाएंगे 100 सवाल

सीमैट परीक्षा (CMAT Exam) के लिए 3 घंटे का समय तय किया गया है सीमैट पेपर को 4 खंडों में बांटा जाता है (CMAT Exam Pattern)ये सभी सेक्शन अलग-अलग विषयों के होते हैं इन चारों सेक्शन को मिलाकर कुल 100 सवाल पूछे जाते हैं ये सभी मल्टिपल चॉइस फॉर्मैट में होते हैं



फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) कोर्स प्रवेश प्रक्रिया, 

फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) एक 2 साल लंबा करियर उन्मुख, डिप्लोमा कोर्स है| जो छात्र फार्मास्युटिकल विज्ञान के चिकित्सा क्षेत्र में एक दीर्घकालीन कैरियर बनाना चाहते हैं, प्रवेश स्तर के पदों से शुरू करके इस पाठ्यक्रम के लिए उपयुक्त हैं| यह कार्यक्रम उम्मीदवारों को अस्पतालों, सामुदायिक फार्मेसियों और अन्य फार्मास्युटिकल-संबंधित क्षेत्रों में एक लाइसेंस प्राप्त फार्मासिस्ट की देखरेख में काम करने के लिए तैयार करने के लिए डिज़ाइन किया गया है|

उम्मीदवार इस कोर्स के बाद एमबीए फार्मास्युटिकल मैनेजमेंट भी कर सकते हैं, हालांकि उन्हें पहले अपना स्नातक पूरा करना होगा| इस लेख में हम फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) कोर्स प्रवेश प्रक्रिया, योग्यता, करियर और वेतन, आदि से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियां आपके सामने रखेंगे|

Bachelor of Ayurveda, Medicine and Surgery Course Process, Eligibility, Careers & D Pharmacy Quick Facts
  बैचलर ऑफ आयुर्वेद, मेडिसिन एंड सर्जरी कोर्स प्रक्रिया, पात्रता, करियर और डी फार्मेसी त्वरित तथ्य

1. इस पाठ्यक्रम में आवेदन करने के योग्य होने के लिए, छात्रों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 50% अंकों के साथ संबंधित विषय में कक्षा 12 या समकक्ष उत्तीर्ण होना चाहिए|

2. फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) पाठ्यक्रमों में प्रवेश या तो प्रवेश या योग्यता आधारित है| सबसे लोकप्रिय प्रवेश परीक्षा जीपीएटी, जेईई फार्मेसी आदि हैं|

3. भारत में इस पाठ्यक्रम के लिए कॉलेजों या विश्वविद्यालयों द्वारा लिया जाने वाला औसत शिक्षण शुल्क 10,000 से 1,00,000 रूपये प्रति वर्ष के बीच कहीं भी हो सकता है| शुल्क संस्थान के प्रकार के अनुसार भिन्न होता है|

4. इस कोर्स को पूरा करने के बाद, छात्र विभिन्न निजी और सार्वजनिक क्षेत्रों में फार्मासिस्ट, वैज्ञानिक अधिकारी, गुणवत्ता विश्लेषक, उत्पादन कार्यकारी, मेडिकल ट्रांसक्रिप्शनिस्ट आदि के रूप में काम करने में सक्षम होंगे|

5. एक फार्मेसी डिप्लोमा धारक को दी जाने वाली औसत प्रारंभिक वेतन कहीं न कहीं 2,00,000 से 5,00,000 रूपये प्रति वर्ष के बीच होता है, जो कि क्षेत्र में कार्य अनुभव और ज्ञान के वर्षों की संख्या के साथ बढ़ सकती है|

6. इस पाठ्यक्रम के पूरा होने पर, छात्र बी फार्मा और अन्य डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के माध्यम से उच्च अध्ययन और उन्नत शैक्षणिक अन्वेषण कर सकते हैं| यह पाठ्यक्रम अनिवार्य रूप से आगे के अध्ययन और संबंधित संभावनाओं के लिए एक ठोस आधार प्रदान करता है|

डी फार्मेसी क्या है?

1. फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) एक तकनीकी आधारित प्रवेश स्तर का डिप्लोमा कोर्स है| यह 2 साल लंबा है और उन उम्मीदवारों के लिए उपयुक्त है जो फार्मास्युटिकल विज्ञान के चिकित्सा क्षेत्र में एक दीर्घकालिक कैरियर बनाना चाहते हैं, जो प्रवेश स्तर के पदों से शुरू होता है|

2. यह उम्मीदवारों को फार्मास्युटिकल साइंस की बुनियादी अवधारणाओं से परिचित कराने के लिए डिज़ाइन किया गया है| डी फार्म पाठ्यक्रम छात्रों को आवश्यक कौशल और शैक्षणिक ज्ञान के साथ तैयार करने के लिए तैयार किया गया है|

3. यह पाठ्यक्रम अन्य नैतिक विषयों जैसे दुर्लभ संसाधनों का वितरण, स्टेम सेल का उपयोग, आनुवंशिक परीक्षण की भूमिका और मानव क्लोनिंग के मुद्दों की जांच करता है|

यह भी पढ़ें- बीएससी मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी कोर्स, प्रवेश, पात्रता और करियर

क्यों डी फार्मेसी करें?

फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) एक कोर्स के रूप में फार्मेसी के अपने फायदे के साथ-साथ अवसर भी हैं जो नौकरी के अन्य क्षेत्रों और भूमिकाओं पर बढ़त प्रदान करते हैं| डी.फार्मा पाठ्यक्रम को आगे बढ़ाने के कुछ बुनियादी कारण हैं, जैसे-

सामाजिक उत्तरदायित्व: फार्मासिस्ट समाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं क्योंकि वे स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र को परिभाषित करते हैं| वे एक समाज के लोगों के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए योगदान करते हैं|

करियर विकल्प: फार्मासिस्ट अस्पतालों, नर्सिंग होम, कॉलेजों और चिकित्सा उद्योग जैसे संगठनों में काम कर सकते हैं|

करियर ग्रोथ: हेल्थकेयर एक लगातार बढ़ता और नॉन स्टैटिक करियर है| हेल्थकेयर करियर में उम्मीदवारों के पास विकास और विकास के मामले में एक बड़ा अवसर है|

लचीलापन: चूंकि यह 24*7 का काम है, इसलिए कोई भी दिन की पाली या रात की पाली में काम करने का विकल्प चुन सकते है|

डी फार्मेसी किसे करनी चाहिए

1. जो छात्र स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं, वे डी फार्मेसी जैसे पाठ्यक्रम में सबसे उपयुक्त और पसंदीदा हैं|

2. डी फार्मेसी करने के लिए छात्रों को न्यूनतम 50% कुल के साथ विज्ञान स्ट्रीम में +2 उत्तीर्ण होना चाहिए|

3. डी फार्मेसी पाठ्यक्रम के लिए अनुसंधान कौशल, विश्लेषणात्मक कौशल वाले उम्मीदवार सबसे उपयुक्त हैं|

डी फार्मेसी कब करें

There is no right time to do Diploma (D.Pharma) course in Pharmacy, like-
फार्मेसी में डिप्लोमा (D.Pharma) कोर्स करने का कोई सही समय नहीं है, जैसे-

1. जो छात्र स्वास्थ्य सेवा और दवा उद्योग में प्रवेश करना चाहते हैं, वे डी. फार्मेसी पाठ्यक्रम कर सकते हैं, क्योंकि उन्हें उचित डिग्री और ज्ञान के बिना इस उद्योग में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी|

2. प्रोत्साहन और उच्च पैकेज के कारण यह छात्रों के लिए एक बहुत ही आकर्षक अध्ययन पाठ्यक्रम है|

यह भी पढ़ें- बैचलर ऑफ़ मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी कोर्स, प्रवेश, पात्रता, करियर

डी फार्मेसी पाठ्यक्रम

फार्मेसी पाठ्यक्रम में यह डिप्लोमा पारंपरिक वार्षिक आधारित पाठ्यक्रम में पढ़ाया जाता है| नीचे दो वर्षों के विस्तृत पाठ्यक्रम का उल्लेख किया गया है| डी फार्मेसी का पाठ्यक्रम प्रत्येक संस्थान के पाठ्यक्रम के अनुसार एक हद तक भिन्न हो सकता है, लेकिन इस विशेष डिप्लोमा पाठ्यक्रम की पेशकश करने वाले पूरे पाठ्यक्रम के लिए मूल संरचना और विषय समान रहते हैं| विषय इस प्रकार है, जैसे-

पहला साल	द्वितीय वर्ष

फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री 1	फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री 2
बायोकैमिस्ट्री क्लिनिकल पैथोलॉजी	एंटीबायोटिक्स
ह्यूमन एनाटॉमी फिजियोलॉजी	हिप्नोटिक्स
स्वास्थ्य शिक्षा सामुदायिक फार्मेसी	औषध विज्ञान और विष विज्ञान
—	फार्मास्युटिकल न्यायशास्त्र
—	ड्रग स्टोर व्यवसाय प्रबंधन
—	अस्पताल क्लिनिकल फार्मेसी
डी फार्मेसी पाठ्यक्रम सामग्री

पहले वर्ष 
फार्मास्युटिकल I	विभिन्न खुराक रूपों का परिचय, मैट्रोलोजी, फार्मास्यूटिकल्स की पैकेजिंग, स्थानांतरण द्वारा आकार पृथक्करण और स्पष्टीकरण और निस्पंदन आदि
फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री 1	अम्ल, क्षार और बफर, एंटीऑक्सीडेंट, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल एजेंट, सामयिक एजेंट, चिकित्सकीय उत्पाद, परिभाषा, इतिहास और दायरा, फार्मास्युटिकल एड्स, दवाओं और प्राकृतिक उत्पत्ति के वर्गीकरण की विभिन्न प्रणालियाँ, मिलावट और दवा मूल्यांकन आदि
बायोकैमिस्ट्री क्लिनिकल पैथोलॉजी	जैव रसायन का परिचय, कार्बोहाइड्रेट, लिपिड, विटामिन, एंजाइमों और चिकित्साविधान आदि
ह्यूमन एनाटॉमी फिजियोलॉजी	एनाटॉमी और फिजियोलॉजी का दायरा, प्राथमिक ऊतक, कंकाल प्रणाली, हृदय प्रणाली, श्वसन प्रणाली और पेशीय प्रणाली आदि
स्वास्थ्य शिक्षा सामुदायिक फार्मेसी	स्वास्थ्य की अवधारणा, पोषण और स्वास्थ्य, प्राथमिक चिकित्सा, पर्यावरण और स्वास्थ्य, सूक्ष्म जीव विज्ञान के मौलिक सिद्धांत और संचारी रोग आदि
दुसरे वर्ष 
फार्मास्युटिकल 2	नुस्खे पढ़ना और समझना, विभिन्न प्रकार की असंगतियों का अध्ययन, पोसोलॉजी, तिरस्कृत दवाएं, पाउडर के प्रकार, लिपिड और खुराक के रूप आदि
फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री 2 कार्बनिक रासायनिक प्रणालियों के नामकरण का परिचय, एंटीसेप्टिक्स और कीटाणुनाशक, एंटीलेप्रोटिक ड्रग्स आदि
औषध विज्ञान और विष विज्ञान	फार्माकोलॉजी का परिचय, औषध विज्ञान का दायरा, ड्रग्स: उनके फायदे और नुकसान, ड्रग एक्शन का सामान्य तंत्र और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र पर अभिनय करने वाली दवाएं आदि
फार्मास्युटिकल न्यायशास्त्र भारत में औषधि विधान की उत्पत्ति और प्रकृति, व्यावसायिक नैतिकता के सिद्धांत और महत्व, फार्मेसी अधिनियम 1948, औषधि और प्रसाधन सामग्री अधिनियम 1940, ड्रग्स एंड मैजिक रेमेडीज एक्ट 1954 आदि|
ड्रग स्टोर व्यवसाय प्रबंधन परिचय, ड्रग हाउस प्रबंधन, बिक्री, भर्ती और प्रशिक्षण, बैंकिंग व वित्त और लेखांकन का परिचय आदि
अस्पताल क्लिनिकल फार्मेसी अस्पतालों की परिभाषा, कार्य और वर्गीकरण, अस्पताल फार्मेसी, अस्पताल में दवा वितरण, प्रणाली, उत्पादन, दवा सूचना सेवा, क्लिनिकल फार्मेसी का परिचय और आधुनिक वितरण पहलू आदि
यह भी पढ़ें- डिप्लोमा ऑफ मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी कोर्स कैसे करें

डी फार्मेसी प्रवेश प्रक्रिया

जो छात्र फार्मेसी कोर्स में डिप्लोमा करना चाहते हैं, उन्हें निम्नलिखित चयन प्रक्रिया से जाना होगा, जैसे-

डी फार्मेसी पात्रता मानदंड

जो छात्र फार्मेसी कोर्स में डिप्लोमा करना चाहते हैं, उन्हें निम्नलिखित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा, जैसे-

1. उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 12 या समकक्ष उत्तीर्ण होना चाहिए|

2. छात्रों ने अनिवार्य विषयों के रूप में भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान या गणित का अध्ययन किया होगा|

3. उम्मीदवार के पास कुल मिलाकर न्यूनतम 50% अंक होने चाहिए|

4. अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग (नॉन-क्रीमी लेयर), विकलांग और अन्य श्रेणियों के उम्मीदवारों को अंकों में 10% की छूट दी जाएगी|

डी फार्मेसी प्रवेश

पाठ्यक्रम में प्रवेश आमतौर पर एक प्रवेश परीक्षा में एक उम्मीदवार द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर होता है| इस उद्देश्य के लिए आयोजित कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाएं जीपीएटी, एयू एआईएमईई आदि हैं| कुछ कॉलेज योग्यता के आधार पर भी प्रवेश देते हैं| प्रवेश प्रक्रिया में शामिल विभिन्न चरण नीचे दिए गए हैं, जैसे-

मेरिट आधारित प्रवेश

1. आप जिन कॉलेजों या विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेना चाहते हैं, उन्हें आवेदन जमा करें|

2. कक्षा 12 की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करें|

3. समय आने पर कॉलेज अपनी मेरिट लिस्ट जारी कर देते हैं। जांचें कि क्या आप वांछित पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए पात्र हैं|

4. यदि पात्र हैं, तो कॉलेज में जाएं और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करें|

यह भी पढ़ें- ऑप्टोमेट्री डिप्लोमा कोर्स, पात्रता और करियर

प्रवेश आधारित प्रवेश

प्रवेश परीक्षा आधारित प्रवेश के लिए आवेदन करने की मार्गदर्शिका इस प्रकार है, जैसे-

पंजीकरण: उम्मीदवारों को संचालन निकाय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा|

आवेदन पत्र भरना: आवेदन पत्र को सभी आवश्यक विवरणों के साथ सावधानी से भरें|

दस्तावेज़ 
मार्कशीट जैसे सभी आवश्यक दस्तावेजों को स्कैन और अपलोड करें| दस्तावेजों को केवल एक विशिष्ट प्रारूप में अपलोड करने की आवश्यकता है, जैसा कि संस्थान के आवेदन पोर्टल द्वारा निर्दिष्ट किया गया है|

आवेदन शुल्क: आवेदन शुल्क की अपेक्षित राशि का भुगतान करें|

प्रवेश पत्र डाउनलोड करें: पात्रता के लिए सभी आवेदकों का न्याय होने के बाद प्रवेश पत्र जारी किए जाते हैं| परीक्षा के दिन उपयोग करने के लिए प्रवेश पत्र डाउनलोड और प्रिंट आउट होना चाहिए|

परीक्षा: पाठ्यक्रम और पिछले प्रश्नपत्रों के अनुसार परीक्षा की तैयारी करें| घोषित तिथि पर परीक्षा के लिए उपस्थित हों|

परिणाम: परीक्षा के दिन के कुछ हफ़्ते के बाद परिणाम घोषित किए जाते हैं| यदि कोई उम्मीदवार प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने में सफल होता है, तो वे अगले दौर में आगे बढ़ सकते हैं|

परामर्श और प्रवेश: प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्रों के लिए परामर्श आयोजित किया जाता है| छात्र अब डी फार्मा कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं|

डी फार्मेसी प्रवेश परीक्षाएं

डी फार्मा कार्यक्रम में प्रवेश के लिए कई राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय प्रवेश परीक्षाएं होती हैं| इन लोकप्रिय डी फार्मा प्रवेश परीक्षाओं में से कुछ नीचे सूचीबद्ध हैं, जैसे-

एयूए आईएमईई: एयू एआईएमईई फ़ार्मेसी (अन्नामलाई यूनिवर्सिटी ऑल इंडिया मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम फ़ार्मेसी) एक राज्य-स्तरीय प्रवेश परीक्षा है, जो हर साल अन्नामलाई विश्वविद्यालय द्वारा विभिन्न फ़ार्मेसी कार्यक्रमों जैसे बी फार्मा, एम फार्मा, डी फार्मा और फार्मा डी में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है|

जीपीएटी: फार्मेसी में विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए जीपीएटी एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है| कई कॉलेज जीपीएटी में छात्रों द्वारा प्राप्त रैंक और उसके बाद डी. फार्म में प्रवेश के लिए समूह चर्चा और व्यक्तिगत साक्षात्कार के आधार पर मेरिट सूची तैयार करते हैं| राज्य डी फार्मेसी परीक्षाएं इस प्रकार है, जैसे-

1. पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा (WBJEE- Pharmac)

2. उत्तर प्रदेश राज्य प्रवेश परीक्षा (UPSEE- Pharmacy)

3. ओडिशा संयुक्त प्रवेश परीक्षा – फार्मेसी (OJEE-P)

4. महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट – फार्मेसी (MHT CET)

5. राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (RUHS-P)

6. कर्नाटक कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (KCET)

7. गुजरात कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (GUJCET)

8. गोवा कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (Goa CET) आदि प्रमुख है|

यह भी पढ़ें- नीट परीक्षा पात्रता मानदंड, आवेदन और प्रवेश प्रक्रिया

फार्मेसी प्रवेश परीक्षा में डिप्लोमा की तैयारी कैसे करें?

डिप्लोमा इन फार्मेसी प्रवेश परीक्षा की तैयारी करते समय कुछ महत्वपूर्ण बिंदु जो उम्मीदवार ध्यान में रख सकते हैं, नीचे दिए गए हैं, जैसे-

पाठ्यक्रम: छात्रों को पाठ्यक्रम के माध्यम से जाना चाहिए और पाठ्यक्रम से सभी महत्वपूर्ण विषयों को चिह्नित करना चाहिए|

महत्वपूर्ण टॉपिक्स को रिवाइज करें: सिलेबस से सभी महत्वपूर्ण टॉपिक्स को रिवाइज करें| महत्वपूर्ण विषयों से संबंधित सभी प्रश्नों को हल करना सुनिश्चित करें|

पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों का अभ्यास करें: पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र को हल करें ताकि आप प्रश्न के लिए अभ्यस्त हो सकें और यह आपकी गति को बढ़ाने में भी मदद करेगा क्योंकि परीक्षा ऑनलाइन मोड में होगी|

मॉक टेस्ट: उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन मॉक टेस्ट को हल कर सकते हैं और दे सकते हैं| यह दक्षता और गति को बढ़ाएगा और आपके आत्मविश्वास को बढ़ाएगा|

अच्छे फार्मेसी कॉलेज में प्रवेश कैसे प्राप्त करें?

फार्मेसी कॉलेज में शीर्ष क्रम के डिप्लोमा में प्रवेश सुरक्षित करने के लिए, कई कारक काम में आते हैं| निम्नलिखित में से कुछ सुझाव उस संबंध में सहायक होंगे, जैसे-

1. पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रक्रिया या तो प्रवेश आधारित है या योग्यता आधारित है|

2. चूंकि अधिकांश कॉलेज योग्यता के आधार पर छात्रों का नामांकन करते हैं, इसलिए उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे अपने उच्च माध्यमिक विद्यालय में पेपर में उच्च प्रतिशत प्राप्त करें|

3. विभिन्न पाठ्येतर गतिविधियों जैसे क्लब, खेल और एनजीओ स्वयंसेवा में भागीदारी और प्रमाणन योग्यता की सूची में एक परिशिष्ट हो सकता है|

4. प्रवेश आधारित चयन के मामले में, एक अच्छे कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए अच्छा प्रदर्शन करना और प्रवेश परीक्षा में अर्हक अंकों से ऊपर स्कोर करना बहुत महत्वपूर्ण है|

5. नवीनतम परीक्षा पैटर्न के बारे में अच्छी तरह से अवगत होना चाहिए| परीक्षा में प्रत्येक सेक्शन को दिए गए वेटेज को भी जानना चाहिए और उसके अनुसार तैयारी करनी चाहिए|

6. एक साल पहले प्रवेश परीक्षा की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए क्योंकि इससे सीखने और रिवीजन के लिए पर्याप्त समय मिलता है|

यह भी पढ़ें- बीएससी ऑप्टोमेट्री कोर्स, प्रवेश, पात्रता व करियर

प्रवेश के बिना डी फार्मेसी

डी फार्मेसी पाठ्यक्रम आम तौर पर अपनाए जाते हैं, जब उम्मीदवार अपनी प्रवेश परीक्षाओं में बैठते हैं और उन परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करते हैं| हालांकि कुछ कॉलेज योग्यता के आधार पर डी. फार्मेसी कॉलेजों में प्रवेश की अनुमति देते हैं| नीचे उन उम्मीदवारों के लिए कुछ महत्वपूर्ण चरणों का उल्लेख किया गया है जो योग्यता के आधार पर डी. फार्मेसी पाठ्यक्रम के लिए खुद को नामांकित करना चाहते हैं, जैसे-

1. उन कॉलेजों / विश्वविद्यालयों में आवेदन जमा करें, जिनमें आप प्रवेश लेना चाहते हैं|

2. आपके पास एक अच्छा स्कोर होना चाहिए, अधिमानतः 50% और उससे अधिक कक्षा 12 वीं में विज्ञान धारा के साथ|

3. विभिन्न पाठ्येतर गतिविधियों में भागीदारी या प्रमाण पत्र होने से उम्मीदवारों के स्कोरकार्ड में अतिरिक्त अंक जुड़ सकते हैं|

4. जब कॉलेज चयनित उम्मीदवारों के नामों की सूची प्रकाशित करते हैं, तो आप जांच सकते हैं कि क्या आपको पाठ्यक्रम के लिए चुना गया है|

5. यदि आप चयनित हैं, तो सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करें और प्रवेश लें|

डी फार्मेसी नौकरियां

डी फार्मेसी एक विविध पाठ्यक्रम है जो इसे करने वाले उम्मीदवारों के लिए बहुत अधिक गुंजाइश प्रदान करता है| फार्मेसी में डिग्री पूरी करने के बाद उम्मीदवारों के पास नौकरी के व्यापक अवसर होते हैं जैसे फार्मासिस्ट, प्रोडक्शन एक्जीक्यूटिव, एनालिटिकल केमिस्ट आदि| कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहां डी फार्मा स्नातक काम कर सकते हैं, जैसे-

1. फार्मास्युटिकल फर्म

2. बिक्री और विपणन विभाग

3. अनुसंधान एजेंसियां

4. क्लिनिक

5. खाद्य एवं औषधि प्रशासन

6. सरकारी अस्पताल

7. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आदि|

नीचे दी गई तालिका में औसत वेतन के साथ नौकरी पदनाम का वर्णनात्मक विश्लेषण है, जैसे-

काम की स्थिति	नौकरी का विवरण	औसत रूपये वेतन
फार्मेसिस्ट	फार्मासिस्ट चिकित्सकों के आदेशों की समीक्षा और व्याख्या करके और चिकित्सीय असंगतियों का पता लगाकर दवाएं तैयार करते हैं| वे फार्मास्यूटिकल्स की पैकेजिंग, कंपाउंडिंग और लेबलिंग द्वारा दवाओं का वितरण करते हैं| वे दवा उपचारों की निगरानी और हस्तक्षेप की सलाह देकर दवाओं को नियंत्रित करते हैं|	2,00,000
वैज्ञानिक अधिकारी	मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी एक कंपनी के वैज्ञानिक कार्यों की देखरेख करते हैं जिसमें बुनियादी और अनुप्रयुक्त अनुसंधान परियोजनाएं और नई प्रक्रियाओं, प्रौद्योगिकियों या उत्पादों का विकास शामिल है|	6,50,000
प्रोडक्शन एग्जीक्यूटिव	उत्पादन लक्ष्यों को पूरा करने के लिए उपकरण और श्रम सहित उपलब्ध संसाधनों के सर्वोत्तम और सबसे कुशल उपयोगों को निर्धारित करने के लिए उत्पादन अधिकारी जिम्मेदार हैं| वे बजट निर्धारित करते हैं, आवश्यक उपकरण और आपूर्ति निर्धारित करते हैं, नौकरी कर्तव्यों को सौंपते हैं, और उत्पादन कार्यक्रम बनाते हैं|	3,50,000
मेडिकल ट्रांसक्रिप्शनिस्ट	चिकित्सकों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों द्वारा रिकॉर्डिंग सुनने के लिए मेडिकल ट्रांसक्रिप्शनिस्ट हेडसेट और पैर पेडल के साथ ट्रांसक्रिप्शनिंग मशीनों का उपयोग करते हैं| वे विभिन्न प्रकार की चिकित्सा रिपोर्ट निर्धारित करते हैं जो चार्ट समीक्षा, आपातकालीन कक्ष के दौरे, संचालन, नैदानिक इमेजिंग अध्ययन और अंतिम सारांश हैं|	2,50,000
विश्लेषणात्मक रसायनज्ञ	विश्लेषणात्मक रसायनज्ञ खाद्य और फार्मास्यूटिकल्स की खपत, प्राकृतिक संसाधनों, विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए सामग्री की उपयोगिता, आपराधिक जांच और विनिर्माण प्रक्रियाओं के व्यावसायीकरण से संबंधित विभिन्न मामलों में अपनी राय के साथ एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं|	4,50,000
पैथोलॉजिकल लैब साइंटिस्ट	वे विभिन्न नमूनों और नमूनों का विश्लेषण करने के लिए प्रयोगशाला से उपकरणों का उपयोग करते हैं, आमतौर पर मानव विषयों से किसी भी असामान्यताओं को समझने और उनके कारणों के बारे में गहराई से जाने के लिए|	3,25,000
अनुसंधान एवं विकास कार्यकारी	एक अनुसंधान एवं विकास कार्यकारी की मुख्य कार्य भूमिका किसी संगठन की अनुसंधान एवं विकास नीतियों, उद्देश्यों और पहलों के सभी पहलुओं की योजना बनाना और उन्हें निर्देशित करना है| अनुसंधान और विकास कार्यक्रमों, नीतियों और प्रक्रियाओं को तैयार करके एक संगठन की प्रतिस्पर्धी स्थिति और लाभप्रदता बनाए रखता है|	5,67,000
अनुसंधान अधिकारी	वे अनुसंधान परियोजनाओं की देखभाल करते हैं और इसे अद्यतन और समय पर रखने के लिए टीम के सदस्यों के साथ काम करते हैं| वे परियोजनाओं के उद्देश्य और अनुसंधान विधियों को निर्धारित करते हैं|	3,25,000
यह भी पढ़ें- बीयूएमएस कोर्स प्रवेश, अवधि, पात्रता और करियर

डी फार्मेसी स्कोप

डी फार्मेसी को पूरा करने के बाद, उम्मीदवारों के लिए अकादमिक और नौकरी दोनों क्षेत्रों में कई संभावनाएं हैं| आप अपने पक्ष और पसंद के अनुसार उनका पीछा कर सकते हैं, जैसे-

1. उच्च अध्ययन के लिए आप फार्मेसी में स्नातक या बी.फार्मा द्वितीय वर्ष का पीछा कर सकते हैं यदि आपने फार्म डी पूरा कर लिया है|

2. आप विभिन्न निजी और सरकारी अस्पतालों में दवा की दुकान पर नौकरी सुरक्षित कर सकते हैं|

3. आप अपना खुद का फार्मेसी स्टोर, या खुदरा या थोक खोलकर उद्यमी बन सकते हैं|

4. शीर्ष डी.फार्म भर्ती क्षेत्र स्वास्थ्य केंद्र, दवा नियंत्रण प्रशासन या चिकित्सा वितरण स्टोर हैं|

फार्मेसी में डिप्लोमा शीर्ष संस्थान

भारत में कुछ शीर्ष संस्थान नीचे सूचीबद्ध हैं जो डी फार्मेसी की पेशकश करते हैं, जैसे-

1. विजडम स्कूल ऑफ मैनेजमैंट अहमदाबाद

2. देवभूमि इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी एंड रिसर्च देहरादून

3. डॉ डी। वाई। पाटिल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी पुणे

4. संदीप विश्वविद्यालय नासिक

5. एनआईएमएस इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी जयपुर

6. क्लिनिकल उत्कृष्टता के लिए अकादमी मुंबई

7. लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी जलंधर

8. केआर मंगलम विश्वविद्यालय गुड़गांव

9. एसजीटी विश्वविद्यालय गुड़गांव

10. इंटीग्रल यूनिवर्सिटी लखनऊ आदि|

यह भी पढ़ें- एमबीबीएस कोर्स प्रवेश, अवधि, पात्रता, पाठ्यक्रम, वेतन, करियर

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न?

प्रश्न: डी फार्मा कोर्स क्या है?

उत्तर: डी फार्मा कोर्स फार्मास्युटिकल साइंस के क्षेत्र में करियर उन्मुख कार्यक्रम है| यह छात्रों को फार्मास्युटिकल साइंस की बुनियादी अवधारणाओं से परिचित कराता है और उन्हें फार्मास्युटिकल कंपनियों के लिए खुदरा फार्मेसियों में पदों को सुरक्षित करने के लिए आवश्यक कौशल और शैक्षणिक ज्ञान के साथ तैयार करता है|

प्रश्न: डी फार्मा का क्या काम है?

उत्तर: डी फार्मा कोर्स पूरा करने के बाद कई अवसर हैं विवरण और डी फार्मेसी कोर्स फीस: आप निजी या सरकारी अस्पतालों के दवा भंडार में नौकरी पा सकते हैं| आप स्वास्थ्य क्लीनिकों, गैर सरकारी संगठनों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में नुस्खे की जांच करके, दवाएं बांटकर काम कर सकते हैं और उन्हें सलाह और निर्देश दे सकते हैं|

प्रश्न: क्या मैं डी फार्मा के बाद मेडिकल शॉप खोल सकता हूँ?

उत्तर: भारत में मेडिकल की दुकान खोलने के लिए न्यूनतम आवश्यकता विज्ञान में 12 वीं कक्षा पूरी करने के बाद फार्मेसी में डिप्लोमा है| फार्मेसी में डिप्लोमा पूरा करने के बाद, आप मेडिकल शॉप के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन करने के पात्र हैं|

प्रश्न: क्या डी फार्मेसी के लिए नीट जरूरी है?

उत्तर: फार्म डी के लिए नीट की आवश्यकता नहीं है, राज्य सीईटी में आपके ग्रेड के अनुसार फार्म डी में प्रवेश होगा| हो सकता है कि कुछ राज्यों में नीट के अंकों के आधार पर दाखिला हो|

प्रश्न: क्या मैं 12वीं आर्ट्स के बाद डी फार्मेसी कर सकता हूं?

उत्तर: नहीं, आप 12वीं कक्षा में मानविकी या कला के बाद फार्मेसी में डिप्लोमा के लिए नहीं जा सकते| डी फार्मा के लिए योग्यता 12वीं कक्षा में न्यूनतम 50% के साथ पीसीबी (भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान) है|

प्रश्न: क्या फार्म डी एक अच्छा कोर्स है?

उत्तर: हाँ, फार्म डी निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में करियर के ढेर सारे अवसर प्रदान करता है|

प्रश्न: मैं फार्म डी फॉर्म कैसे भर सकता हूँ?

उत्तर: एक बार जब आप फार्म डी को आगे बढ़ाने का निर्णय लेते हैं, और उन कॉलेजों का चयन करते हैं जिन्हें आप आवेदन करना चाहते हैं, तो कॉलेजों के आधिकारिक लिंक पर जाएं और फार्म डी फॉर्म भरने के नियमों का पालन करें|

प्रश्न: फार्म डी के शीर्ष भर्ती क्षेत्र कौन से हैं?

उत्तर: फार्म डी के कुछ शीर्ष भर्ती क्षेत्र निजी और सरकारी अस्पताल, चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, उद्यमी आदि हैं|

प्रश्न: एम फार्मेसी क्या है?

उत्तर: एम फार्मेसी मास्टर्स ऑफ फार्मेसी है, एक बार उम्मीदवार अपनी स्नातक की डिग्री पूरी कर लेता है तो वे एम फार्मेसी को आगे बढ़ाने के लिए पात्र होते हैं|

प्रश्न: कौन सा बेहतर है, फार्म डी या बी फार्मा?

उत्तर: दोनों अपने-अपने तरीके से अद्वितीय हैं| बी फार्मा 3 साल का बैचलर डिग्री है लेकिन फार्म डी 2 साल का डिप्लोमा डिग्री कोर्स है| हालाँकि अगर तुलना की जाए तो बी फार्मा, फार्म डी से बेहतर है

प्रश्न: क्या डी फार्मेसी के लिए काम करने का कोई निश्चित समय है?

उत्तर: फार्मेसी पेशे में किसी भी नौकरी की भूमिका में आम तौर पर 9 घंटे की ड्यूटी शामिल होती है, जो एक संगठन से दूसरे संगठन में भिन्न हो सकती है|

प्रश्न: क्या फार्म डी बनना लागत के लायक है?

उत्तर: फार्म डी द्वारा प्रदान किए जाने वाले करियर के व्यापक अवसर, यह निश्चित रूप से करियर बनाने और सभी पैसे के लायक एक अच्छा विकल्प है|

यह भी पढ़ें- बी फार्मेसी कोर्स प्रवेश, पात्रता, वेतन व करियर

किसी बच्चे की जन्मतिथि 10-09-2002है। डी फार्मा में प्रवेश हेतु नहीं हो सकता है क्योंकि आयु 18वर्ष पूरी चाहिए।
इसका कोई अन्य उपाय है तो बताएं या फिर हमें आयु पूरी होने तक इंतजार करना होगा!


एआईएमए यूजीएटी परीक्षा: अंकन योजना, पैटर्न और सिलेबस
एआईएमए यूजीएटी की तैयारी कैसे करें, जाने युक्तियाँ और रणनीति
एआईएमए यूजीएटी की तैयारी के लिए विषयवार सर्वश्रेष्ठ पुस्तकें
एलएसएटी इंडिया परीक्षा अंकन योजना, पैटर्न और सिलेबस
एलएसएटी इंडिया प्रवेश परीक्षा की तैयारी कैसे करें, जाने टिप्स
ब्लॉग के विषय
अनमोल विचार
करियर
खेती-बाड़ी
जीवनी
जैविक खेती
धर्म-पर्व
पशुपालन
पैसा कैसे कमाए
बागवानी
सब्जियों की खेती
सरकारी योजनाएं
स्वास्थ्य
Footer
अपने विचार खोजें
आप अपनी जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे बॉक्स में अपने शब्द टाइप कर के प्राप्त कर सकते है, 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *