मिग-21 क्यों होता है बार बार हादसा क्या इसके पीछे कोई साजिश है?

अभी कुछ दिनों में देश ने तमिलनाडु के कुन्नूर में सबसे भयंकर प्लेन क्रैश हुआ था जिस क्रैश में सीडीएस बिपिन रावत सहेत 13 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी अब फिर इसी महीने में एक और प्लेन क्रैश की घटना हो गई है जगह अलग है,प्लेन दूसरा है,लेकिन अंजाम एक जैसा है इससे पहले नवंबर में अरुणाचल प्रदेश में भी मिग 21 का ही फाइटर प्लेन क्रैश हुआ था उस हादसे में पायलट समेत दूसरे भी सुरक्षित थे ऐसी ही एक घटना राजस्थान के बाडमेर में भी देखने को मिली थी वहां भी मिग 21 ही दुर्घटाग्रस्त हुआ पर पायलट ने खुद को सुरक्षित बचा लिया था लेकिन इन लगातार हो रही घटनाओं की वजह से एयरफोर्स भी अब ये समझने का प्रयास कर रही है कि आखिर इतने अत्याधुनिक फाइटर जेट क्यों क्रैश कर रहे हैं?

बीते शुक्रवार 24-12-2021 राजस्थान के जैसलमेर से एक घटना सामने आई जो फिर से दहला गई अभी कन्नू हादसा औऱ विपिन रावत जी की विमान क्रेश हादसे हो हम भूल नही पाए थे कि एक और हादसे ने लोगो के बीच हड़कम मचा दी 24 दिसम्बर शुक्रवार की शाम को भारतीय वायुसेना का एक मिग-21 विमान क्रैश हुआ जिसके पायलट की खोज की जा रही है।


विंग कमांडर हर्षित सिन्हा शहीबीते शुक्रवार भारतीय वायुसेना का एक मिग-21 लड़ाकू  विमान राजस्थान के जैसलमेर के पास क्रेश हुआ जिसमें पायलेट ला पता थे उनकी खोज की जा रही थी उनका नाम  कमांडर हर्षित सिन्हा था अब खबर है की क्रेश के दौरान वो शहीद हो चुके है
विमान एक प्रशिक्षण उड़ान के दौरान पश्चिमी सेक्टर में जैसलमेर ज‍िले में सम के रेतीले धोरों का शिकार हुआ।


खबर है कि विमान नियमित उड़ान पर था भारतीय वायुसेना के अनुसार बेहद दुखद खबर है कि विग कमांडर हर्षित सिन्हा विमान हादसे में शहीद हो गए हैं। साथ ही वायुसेना ने शहीद के परिजनों को सांत्वना दी है। बताया जाता है कि यह प्लेन क्रैश देर शाम करीब साढ़े आठ बजे हुआ। जानकारी के मुताबिक यह विमान नियमित उड़ान पर था। मामले की जानकारी होते ही एयरफोर्स और रेस्क्यू टीम मौके पर ही वहाँ आई पुलिस
जैसलमेर के पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि यह प्लेन क्रैश नेशनल पार्क एरिया के रेगिस्तान में हुआ है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक जगह सैम पुलिस थाने के अंतर्गत आती है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जानकारी मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर ही पहुँची है। साथ ही दमकल के वाहनों को भी वहां भेजा गया।


हादसे की जगह जैसलमेर से करीब 70 किमी दूर है। गौरतलब है कि इससे पहले अगस्त 2021 में भी बाड़मेर में एक मिग-21 विमान क्रैश हुआ था। इस हादसे में पायलट की जान बच गई थी।
पायलेट की मौत इस क्रैश में जलने की वजह से हुई है उड़ान के दौरान जब  यह हादसा हुआ यो विमान में आग लग गईऔर पायलेट  जल गयाघटना का अनुमान लगाया जा रहा  है कि खराब मौसम तकनीकी खराबी है या फिर कुछ और, हर पहलू पर एयरफोर्स द्वारा विस्तृत जांच की की जा रही है अभी के लिए सिर्फ इतनी ही जानकारी सामने आई है कि भारत-पाकिस्तान सीमा के पास ये घटना हुई है और घटना में पायलट ने अपनी जान गंवा दी  एयरफोर्स ने ट्वीट कर उस वीर विंग कमांडर को अपनी श्रद्धांजलि दी है।


अभी कुछ दिनों में देश ने तमिलनाडु के कुन्नूर में सबसे भयंकर प्लेन क्रैश हुआ था जिस क्रैश में सीडीएस बिपिन रावत सहेत 13 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी अब फिर इसी महीने में एक और प्लेन क्रैश की घटना हो गई है जगह अलग है,प्लेन दूसरा है,लेकिन अंजाम एक जैसा है इससे पहले नवंबर में अरुणाचल प्रदेश में भी मिग 21 का ही फाइटर प्लेन क्रैश हुआ था उस हादसे में पायलट समेत दूसरे भी सुरक्षित थे ऐसी ही एक घटना राजस्थान के बाडमेर में भी देखने को मिली थी वहां भी मिग 21 ही दुर्घटाग्रस्त हुआ पर पायलट ने खुद को सुरक्षित बचा लिया था लेकिन इन लगातार हो रही घटनाओं की वजह से एयरफोर्स भी अब ये समझने का प्रयास कर रही है कि आखिर इतने अत्याधुनिक फाइटर जेट क्यों क्रैश कर रहे हैं?


कुछ दिनों पहले हुए हादसे के बाद अब  फिर भारतीय वायु सेना को एक झटका लगा है जानकारी के मुताबिक जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर गंगा गांव के पास DNP एरिया में यह ये हादसा हुआ बताया जा रहा है विमान ने रुटीन ट्रेनिंग के लिए उड़ान भरी थी
विमानों कुछ ऐसी घटनाएं जैसे तमिलनाडु में नीलग‍िरी जिले के कुन्नूर में वरिष्ठ रक्षा अधिकारियों को ले जा रहा सेना का एक हेलीकॉप्ट क्रेश इस हादसे में सीडीएस बिपिन रावत,उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 दूसरे सदस्यों की मौत हुई थी। जनरल रावत की मौत से देश कोबड़ी क्षति हुई थी  हादसे की सूचना जब दिल्ली तक पहुंची तो हड़कंप मचा था इसके पहले भी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी के साथ आखिरी बड़ा विमान दुर्घटना 1993 में हुआ जब पूर्वी कमान के जीओसी-इन-सी लेफ्टिनेंट जनरल जमील महमूद की भूटान में भारतीय वायुसेना के एमआई-8 हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी।


मृतकों में उनकी पत्नी भी शामिल थी 2011 में अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री दोरजी खांडू और चार अन्य लोगों के साथ लापता हुए हेलीकॉप्टर का मलबा मिला था। खांडू का चार सीटों और एक इंजन वाला पवन हंस हेलीकॉप्टर एएस-बी350-बी3 30 अप्रैल को तवांग से सुबह नौ बज कर 56 मिनट पर उड़ान भरने के 20 मिनट बाद से ही लापता था।
और अब जैसलमेर में भारत-पाक सीमा के पास वायुसेना का MiG21 विमान दुर्घटनाग्रस्त से लीगो के बीच दहसत मच गई ये घटनव सुदाशिरि गांव की है  इस क्रैश में जलने की वजह से पायलट की मौत हुई जिसमे पायलेटविंग कमांडर हर्षित सिन्हा शहीद हो गए
हादसे में राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जैसलमेर जिले में मिग-21 लड़ाकू विमान दुर्घटना में विग कमाण्डर हर्षित सिन्हा के निधन पर दुख व्यक्त किया है।

और उनके परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की और ईश्वर से प्राथना की कि आत्मा को शांति प्रदान करे श्री गहलोत ने कहा कि यह जानकर उन्हें दुख हुआ कि विग कमांडर हर्षित सिन्हा का राज्य के पश्चिमी क्षेत्र में प्रशिक्षण उड़ान के दौरान मिग -21 विमान हादसे में निधन हो गया। मुख्यमंत्री ने उनके परिवार के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि हम उनके दुख में शामिल हैं। उन्होंने ईश्वर से उन्हें इस दुख की घड़ी में शक्ति देने की प्रार्थना करते है भारत मे हो रहे पायलेट के साथ ये हादसे कुछ ठीक नही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.